परिचय: बैंक बैलेंस चेक नंबर एक अद्वितीय कोड या कोड का संयोजन है जो आपको अपने बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देता है। यह संख्या प्रत्येक बैंक के लिए विशिष्ट है और आपके खाते के प्रकार के आधार पर भिन्न हो सकती है। भारत में, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम और फोन बैंकिंग सहित, आपके बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने के कई तरीके हैं। इस ब्लॉग पोस्ट में, हम भारत में आपके बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने के विभिन्न तरीकों और विभिन्न बैंकों द्वारा उपयोग किए जाने वाले बैंक शेष राशि की जांच के बारे में चर्चा करेंगे।

Internet Banking : अंतराजाल लेन – देन

इंटरनेट बैंकिंग कहीं से भी, कभी भी अपने बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने का एक सुविधाजनक तरीका है। इस सेवा का उपयोग करने के लिए, आपके पास इंटरनेट का उपयोग होना चाहिए और अपने बैंक के साथ इंटरनेट बैंकिंग के लिए पंजीकरण करना चाहिए। एक बार जब आप पंजीकृत हो जाते हैं, तो आप अपने खाते में लॉग इन कर सकते हैं और अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। भारत में अधिकांश बैंक इंटरनेट बैंकिंग के लिए यूजर आईडी और पासवर्ड संयोजन का उपयोग करते हैं। हालाँकि, कुछ बैंक ग्राहक आईडी और पासवर्ड संयोजन का भी उपयोग करते हैं।

मोबाइल बैंकिंग

मोबाइल बैंकिंग इंटरनेट बैंकिंग के समान है, लेकिन आप अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके अपने खाते तक पहुंच सकते हैं। इस सेवा का उपयोग करने के लिए आपको बैंक का मोबाइल ऐप डाउनलोड करना होगा और मोबाइल बैंकिंग के लिए पंजीकरण करना होगा। एक बार पंजीकरण हो जाने के बाद, आप अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके अपने खाते में लॉग इन कर सकते हैं और अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं। भारत में अधिकांश बैंक मोबाइल बैंकिंग के लिए एक मोबाइल नंबर और MPIN (मोबाइल व्यक्तिगत पहचान संख्या) संयोजन का उपयोग करते हैं।

एटीएम

एटीएम भारत में अधिकांश शहरी और अर्ध-शहरी क्षेत्रों में उपलब्ध हैं, और वे आपके बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने का एक सुविधाजनक तरीका प्रदान करते हैं। एटीएम में अपना बैलेंस चेक करने के लिए, आपको मशीन में अपना डेबिट या एटीएम कार्ड डालना होगा और अपना पिन दर्ज करना होगा। एक बार जब आप अपना पिन दर्ज कर लेते हैं, तो आप अपने खाते की शेष राशि की जांच करने के विकल्प का चयन कर सकते हैं। एटीएम के लिए बैंक बैलेंस चेक नंबर आपके पिन के समान है।

फोन बैंकिंग

फोन बैंकिंग आपको अपने फोन का उपयोग करके अपने बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देता है। इस सेवा का उपयोग करने के लिए, आपको अपने बैंक में फोन बैंकिंग के लिए पंजीकरण कराना होगा और एक विशिष्ट फोन बैंकिंग नंबर प्राप्त करना होगा। एक बार जब आप पंजीकृत हो जाते हैं, तो आप फोन बैंकिंग नंबर पर कॉल कर सकते हैं और अपने खाते की शेष राशि की जांच करने के लिए निर्देशों का पालन कर सकते हैं। फोन बैंकिंग के लिए बैंक बैलेंस चेक नंबर अंकों या आईवीआर (इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस) सिस्टम का एक संयोजन है।

विभिन्न बैंकों द्वारा उपयोग किए जाने वाले बैंक बैलेंस चेक नंबर

भारत में विभिन्न बैंक अपनी विभिन्न सेवाओं के लिए विभिन्न बैंक बैलेंस चेक नंबरों का उपयोग करते हैं। भारत में विभिन्न बैंकों द्वारा उपयोग किए जाने वाले कुछ लोकप्रिय बैंक बैलेंस चेक नंबर हैं:

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) – *99# या *595#

एचडीएफसी बैंक – *99# या *919#

आईसीआईसीआई बैंक – *99# या *999#

एक्सिस बैंक – *99# या *99#

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) – *99# या *99#

बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) – *99# या *99#

केनरा बैंक – *99# या *99#

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया – *99# या *99#

आधार नंबर से बैंक बैलेंस चेक करें

आधार संख्या द्वारा बैंक बैलेंस की जांच करना एक सुविधाजनक तरीका है जो आपको अपने खाते की शेष राशि जानने में मदद करता है। इस सेवा का उपयोग करने के लिए, आपको अपने आधार नंबर को अपने बैंक खाते में अपने आधार कार्ड से लिंक करना होगा। भारत में कई बैंक इस सुविधा का उपयोग करते हैं जो आपको अपने आधार नंबर के माध्यम से बैंक बैलेंस की जांच करने की सुविधा प्रदान करती है।

आधार नंबर द्वारा बैंक बैलेंस चेक करने के कुछ आसान उपाय हैं। सबसे पहले, आपको अपने आधार कार्ड को अपने बैंक खाते से अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर से लिंक करना होगा। इसके बाद, आप अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर से निर्दिष्ट बैंक नंबर पर एक एसएमएस भेज सकते हैं और अपने आधार नंबर का उपयोग करके बैंक बैलेंस की जांच कर सकते हैं। इस तरीके से आप अपने बैंक अकाउंट का बैलेंस तुरंत चेक कर सकते हैं।

निष्कर्ष

अंत में, बैंक बैलेंस चेक नंबर अद्वितीय कोड या कोड के संयोजन होते हैं जो आपको अपने बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देते हैं। इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम और फोन बैंकिंग सहित भारत में अपने बैंक खाते की शेष राशि की जांच करने के विभिन्न तरीके हैं। भारत में विभिन्न बैंक अपनी विभिन्न सेवाओं के लिए विभिन्न बैंक बैलेंस चेक नंबरों का उपयोग करते हैं। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि इनमें से कुछ सेवाओं पर शुल्क लग सकता है, इसलिए सलाह दी जाती है कि इनका उपयोग करने से पहले अपने बैंक से जांच कर लें।

By Puneet Singh

Hello, friend! I’m Puneet Singh Tandi Gurera, the proud founder of CNSTrack. I welcome you to our dedicated space where we explore the world of blogging and offer comprehensive logistics solutions.