15 August 2023 Speech In Hindi: आज जब हम यहां अपने देश का 76वां स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं, तो हमें उस अविश्वसनीय लचीलेपन की याद आ रही है, जो भारत को परिभाषित करता है। हमारे देश ने अनगिनत चुनौतियों को पार किया है और हर बार मजबूत होकर उभरा है, और हम आज यहां उस गवाह के रूप में खड़े हैं।

स्वतंत्रता दिवस हमारे अतीत का जश्न मनाने का दिन है, लेकिन यह भविष्य की ओर देखने का भी दिन है। हमने जो प्रगति की है उसका जायजा लेने के साथ-साथ हमें आगे आने वाली चुनौतियों के प्रति भी सचेत रहना चाहिए। हम एक तेजी से जटिल और आपस में जुड़ी हुई दुनिया में रहते हैं, और जिन चुनौतियों का हम सामना करते हैं, उनके लिए अभिनव समाधान और साहसिक सोच की आवश्यकता होती है।

लेकिन जब हम इन चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, तो हमें यह भी याद रखना चाहिए कि हमारे पास अपनी नियति को आकार देने की शक्ति है। हमारे पास अपने और आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर भविष्य बनाने की क्षमता है। हमें अपने पूर्वजों के बलिदान से प्रेरणा लेनी चाहिए जिन्होंने हमारी स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी और एक मजबूत और अधिक समृद्ध भारत के निर्माण की दिशा में काम किया।

बेहतर भविष्य के निर्माण के लिए हमें एक अधिक समावेशी और न्यायसंगत समाज बनाने की दिशा में काम करना चाहिए। हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रत्येक नागरिक की शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा और अन्य बुनियादी सुविधाओं तक पहुंच हो। हमें गरीबी को दूर करने, असमानता को कम करने और अपने नागरिकों के लिए अधिक अवसर पैदा करने की दिशा में काम करना चाहिए।

प्रगति और विकास को आगे बढ़ाने के लिए हमें नवाचार और प्रौद्योगिकी को भी अपनाना चाहिए। हमारी युवा और गतिशील आबादी एक अविश्वसनीय संपत्ति है, और हमें उन्हें बदलाव लाने के लिए आवश्यक उपकरण और संसाधन प्रदान करने चाहिए।

जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते हैं, आइए हम अपने सैनिकों के बलिदानों को भी याद करें जो हमारे देश की रक्षा के लिए अथक परिश्रम करते हैं। वे हमारे देश के सच्चे नायक हैं, और बेहतर भविष्य बनाने के लिए हम उनके ऋणी हैं।

प्रौद्योगिकी ने अनगिनत तरीकों से हमारे जीवन में क्रांति ला दी है, और यह हमारी वृद्धि और विकास के लिए एक अनिवार्य उपकरण बन गई है। इसने नवाचार, विकास और प्रगति के लिए नई संभावनाएं खोली हैं और हमारे जीने, काम करने और संवाद करने के तरीके को बदल दिया है। जैसे-जैसे हम आगे बढ़ते हैं, हमें प्रौद्योगिकी को अपनाना जारी रखना चाहिए और अपनी अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों में प्रगति और विकास को चलाने के लिए इसका उपयोग करना चाहिए।

कृषि हमेशा हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ रही है, और यह हमारे देश की वृद्धि और विकास के लिए महत्वपूर्ण बनी हुई है। जैसा कि हम कृषि के क्षेत्र में नई चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, हमें यह सुनिश्चित करने के लिए अनुसंधान, प्रौद्योगिकी और नवाचार में निवेश करना जारी रखना चाहिए कि हमारे किसानों के पास फलने-फूलने के लिए आवश्यक उपकरण और संसाधन हों। हमें अधिक टिकाऊ और लचीली कृषि प्रणाली बनाने की दिशा में भी काम करना चाहिए जो जलवायु परिवर्तन और अन्य पर्यावरणीय कारकों की चुनौतियों का सामना कर सके।

शिक्षा हमारे देश के भविष्य की कुंजी है, और हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा तक प्रत्येक नागरिक की पहुंच हो। हमें अपने स्कूलों, शिक्षकों और छात्रों में निवेश करना चाहिए, और उन्हें सफल होने के लिए आवश्यक उपकरण और संसाधन प्रदान करना चाहिए। हमें एक अधिक समावेशी शिक्षा प्रणाली बनाने की दिशा में भी काम करना चाहिए जो यह सुनिश्चित करे कि हर बच्चे की, चाहे उनकी पृष्ठभूमि कुछ भी हो, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच हो।

गरीबी उन्मूलन एक महत्वपूर्ण चुनौती है जिसे हमें संबोधित करना चाहिए यदि हम एक अधिक समृद्ध और न्यायसंगत समाज का निर्माण करना चाहते हैं। हमें अपने नागरिकों के लिए अधिक अवसर पैदा करने की दिशा में काम करना चाहिए, और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रत्येक नागरिक के पास स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा और आवास जैसी बुनियादी सुविधाओं तक पहुंच हो। हमें अधिक नौकरियां भी पैदा करनी चाहिए और अपने कार्यबल में निवेश करना चाहिए, ताकि हमारे नागरिक पूर्ण और उत्पादक जीवन जी सकें।

अंत में, आइए हम इस स्वतंत्रता दिवस को अपने देश के अतीत के लिए गर्व और कृतज्ञता की भावना के साथ मनाएं, लेकिन भविष्य के लिए उद्देश्य और दृढ़ संकल्प की भावना के साथ भी। आइए हम एक अधिक लचीला, अधिक समृद्ध और अधिक समावेशी भारत बनाने की दिशा में काम करें। जय हिन्द!

By Puneet Singh

Hello, friend! I’m Puneet Singh Tandi Gurera, the proud founder of CNSTrack. I welcome you to our dedicated space where we explore the world of blogging and offer comprehensive logistics solutions.