रेलवे पार्सल बुकिंग प्रक्रिया | रेलवे पार्सल डिलीवरी समय | रेलवे पार्सल ट्रैकिंग

Indian rail Parcel Tracking
Views: 1008
2 0
Read Time:8 Minute, 1 Second

Indian Railway Parcel Tracking कैसे करें? रेल पार्सल बुकिंग ट्रैकिंग कैसे करें? Indian Railway Parcel का Customer Care नंबर क्या है? रेल पार्सल बुकिंग ट्रैकिंग के बारे में जानकारी

भारतीय रेल पार्सल (Indian Railway Parcel Tracking) के बारे में जानकारी

पार्सल के छोटे पैकेज होते हैं जिन्हें मुख्य रूप से भारतीय रेलवे (आईआर) पर यात्री ले जाने वाली ट्रेनों द्वारा ले जाया जाता है। भारतीय रेलवे, देश के लोजिस्टिक्स क्षेत्र की रीढ़ हैं। देश के लगभग हर नुक्कड़ पर अपने व्यापक नेटवर्क के साथ, देश के संतुलित और समावेशी सामाजिक आर्थिक विकास को सुगम बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते निभाती हैं। लगभग सभी वस्तुओं जैसे फल और सब्जियां, खाद्यान्न, मछली, पोल्ट्री आइटम, बिजली के सामान, साइकिल, मोटरसाइकिल, स्कूटर, रिक्शा, मशीनरी आइटम, दवाएं, हाउस होल्ड सामान आदि ले जाती हैं। भूमि परिवहन प्रणाली का सबसे पर्यावरण अनुकूल साधन हैं। पार्सल के परिवहन और समय पर डिलीवरी के लिए सबसे कम दरों की पेशकश करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

रेलवे पार्सल बुकिंग कैसे करे

आप संबंधित रेलवे स्टेशन के मुख्य पार्सल Supervisor से संपर्क कर सकते हैं जहां से आप पार्सल बुक करना चाहते हैं

रेलवे पार्सल को ट्रैकिंग कैसे करे

बुकिंग के समय कंसाइनर को दी गई रेलवे रसीद (आरआर) से आप कन्साइनमेंट का पता कर सकते है

Railway Parcel

  1. ऊपर दिए गए किसी एक लिंक क्लिक पर करें।
  2. Indian Railway Parcel Tracking वेबसाइट की Popup window खुलेंगी।
  3. अपना Docket /RR नम्बर डालें।
  4. Submit पर क्लिक करें।
  5. आपको आपके पार्सल /कन्साइनमेंट का Delivery स्टेटस पता चल जायेगा।

एप से ट्रेन से भेजे गए पार्सल को ट्रैकिंग कैसे करे

ट्रेन में भेजा पार्सल (सामान) पहुंच गया है या नहीं, इसको लेकर अधिकारी अब आपको गुमराह नहीं कर सकेंगे, क्योंकि ट्रेन की लोकेशन की तरह पार्सल की लोकेशन बताने वाला ‘ऑनलाइन पार्सल गाइड” एप आ गया है। जिस पर आसानी से पार्सल की लोकेशन को जब चाहे तब ट्रैक किया जा सकेगा। एप में जरूरी जानकारी जैसे पार्सल ऑफिस की लोकेशन, मुख्य बुकिंग सुपरवाइजर का मोबाइल नंबर, किराया कितना लगेगा, किस ट्रेन से पार्सल भेज सकेंगे यह भी जान पाएंगे ।

भोपाल रेल मंडल ने 1 मई से एप लांच कर दिया है। जल्द ही पश्चिम मध्य रेल के जबलपुर व कोटा मंडल के साथ भारतीय रेलवे में इसे लांच करने की तैयारी है। एप को भोपाल रेल मंडल में असिस्टेंट कमर्शियल मैनेजर प्रसन्न कुमार ने तैयार किया है जो गुगल प्ले स्टोर पर ‘ऑनलाइन पार्सल गाइड” मोबाइल एप के नाम से उपलब्ध है।

FNR Tracking कैसे करें? FOIS Tracking कैसे करें? Maal Gadi Tracking

बुकिंग के समय आवश्यक दस्तावेज क्या हैं

आपको “फॉरवर्डिंग नोट” नामक एक दस्तावेज निष्पादित करना होगा, जिसमें बुक किए जाने वाले Consignment के विवरण के साथ-साथ कंसाइनर और कंसाइनी के विवरण भी शामिल हों। इसके अलावा, निर्धारित प्रारूप में एक अंडरटेकिंग प्रस्तुत की जाएगी जिसमें कहा जाएगा कि डिलीवरी लेने से पहले ई-वे बिल जेनरेट और पेश किया जाएगा। हालांकि, अगर माल का मूल्य 50,000/- से कम है तो आपको वे बिल देने की आवशकता नहीं हैं।

डिलीवरी लेते समय कौन से दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है

ई-वे बिल (यदि लागू हो) के साथ पार्सल की बुकिंग के समय कंसाइनर को दी गई रेलवे रसीद (आरआर), गंतव्य पर डिलीवरी लेने से पहले आवश्यक है।

रेलवे पार्सल में मोटर साइकिल बुकिगं कैसे करें
  • यदि आप वाहन के साथ ट्रेन से यात्रा नहीं कर रहे हैं तो टू व्हीलर को पार्सल के रूप में बुक करना होगा।
  • टू व्हीलर के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और एक सरकारी आईडी प्रूफ के साथ जेरोक्स कॉपी को पार्सल ऑफिस ले जाये ।
  • बुकिंग से पहले टू व्हीलर को ठीक से पैकिंग करना होगा।
  • पैकिंग से पहले सुनिश्चित करें कि आपके दोपहिया वाहन में पेट्रोल टैंक खाली है।
  • कृपया कार्डबोर्ड के एक टुकड़े पर आरंभिक और डिलीवरी स्टेशनों के नाम का उल्लेख करें। लेखन स्पष्ट रूप से दिखना चाहिए। कार्ड बोर्ड दुपहिया वाहन से बंधा होना चाहिए।
  • प्रारंभिक स्टेशन और गंतव्य स्टेशन, डाक पता, वाहन का निर्माण, पंजीकरण संख्या, वाहन का वजन, वाहन का मूल्य आदि के साथ फॉरवार्डिंग नोट भरें।
दोपहिया वाहन को लगेज के रूप में बुक करने का तरीका

यदि आप एक ही ट्रेन से destination के लिए यात्रा कर रहे हैं तो दोपहिया वाहन को सामान के रूप में बुक किया जा सकता है।

  • आपको अपनी ट्रेन के वास्तविक प्रस्थान समय से कम से कम आधा घंटा पहले उपस्थित होना होगा।
  • पार्सल के रूप में टू व्हीलर की बुकिंग करते समय पैकिंग, लेबलिंग और मार्किंग की प्रक्रिया वही रहती है जिसका पालन किया जाता है।
  • अपने दोपहिया वाहन को सामान के रूप में बुक करते समय यात्रा टिकट का विवरण करना होगा।
  • निर्धारित शुल्क के भुगतान पर आपको लगेज टिकट दिया जाएगा। आपके यात्रा टिकट पर एक Endorsement किया जाएगा।
  • उपलब्धता के अधीन दोपहिया वाहन को उसी ट्रेन से भेजा जाएगा।
  • डिलीवरी लेने के लिए मूल टिकट और लगेज एंडोर्समेंट दिखाएं।
  • डिलीवरी लेते समय लगेज टिकट को सरेंडर करना होगा।

ये ब्लॉग केवल Railway Parcel Tracking के बारे में जानकारी देने के लिए लिखा गया है अगर आपको कंपनी के बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो आप कंपनी के वेबसाइट या कस्टमर केयर से ले सकते है. हमारे ब्लॉग में त्रुटि हो तो हमें कमेंट करे जिसे उसे हटाया या सुधार किया जा सके।

सवाल आपके जवाब हमारे
Indian Railway Parcel का Customer Care नंबर क्या है

Customer Care Number 139

Indian Railway Parcel का Official Website क्या है

https://parcel.indianrail.gov.in

Menu