श्रीनगर से शारजाह तक कार्गो परिवहन के लिए हुआ समझौता

श्रीनगर से शारजाह तक कार्गो परिवहन के लिए हुआ समझौता
Views: 108
1 0
Read Time:2 Minute, 55 Second

अब घाटी से सीधे कार्गों परिवहन शुरू होने से स्थानीय किसाानों और बागवानों को फायदा मिलेगा। अब उनकी उपज को सीधे अंतरराष्ट्रीय बाजार मिलेगा। कश्मीर के श्रीनगर से शारजाह तक कार्गो परिवहन के लिए एयरलाइन कंपनी गो फर्स्ट ने सोमवार को यूएई स्थित लुलु समूह के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं । गो फर्स्ट कश्मीर से अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवा शुरू करने वाली पहली एयरलाइन थी जिसने अंतराष्ट्रीय सेवाएं शुरू की।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर दौरे के दौरान बीते शनिवार को ही श्रीनगर से शारजाह के लिए पहली अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा का उद्घाटन किया था। उन्होंने कहा था कि इससे कश्मीर में पर्यटन को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी और यहां अधिक निवेश आएगा। जिससे रोजगार के नए साधन भी उपलब्ध होंगे।  ‘गो फर्स्ट’ द्वारा संचालित उड़ान शाम 6.30 बजे शारजाह के लिए संचालित होती है। अब घाटी से अंतरराष्ट्रीय कार्गो सेवाएं शुरू करने वाली गो फर्स्ट पहली एयरलाइन भी बन गई है।

गो फर्स्ट हेड मोहित द्विवेदी और लुलु समूह के निदेशक सलीम एमए के बीच श्रीनगर से शारजाह तक कार्गो परिवहन के लिए हुआ समझौता

प्रमुख सचिव उद्योग और वाणिज्य और प्रशासनिक सचिव नागरिक उड्डयन विभाग, जम्मू और कश्मीर की उपस्थिति में गो फर्स्ट हेड मोहित द्विवेदी और लुलु समूह के निदेशक सलीम एमए के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। लुलु समूह के निदेशक रंजन ठाकुर ने कहा कि कश्मीर में निर्यात के अपार अवसर हैं और यहाँ के किसानो एक निर्यात करने का नया मौका मिलेगा ।

उन्होंने कहा कि घाटी से निर्यात के अपार अवसर हैं। यहां के स्थानीय फल, सब्जियां और अन्य चीजों को हम सीधे अंतरराष्ट्रीय बाजार मुहैया करवाएंगे। गो फर्स्ट ने श्रीनगर से खाड़ी देशों में कार्गो परिवहन करने वाली पहली एयरलाइन बनने पर प्रसन्नता भी व्यक्त की। 
 

Menu